अगर आप प्यार में हैं..

image

कोई प्यार से अछूता रह सकता है लेकिन प्यार की फीलिंग से नहीं । प्यार तो होगा और हो कर रहेगा चाहे कोई कुछ भी कर ले, कितनी ही कोशिश करे बचने की । ‘मया के आंचल काजर के कोठी, कतको लुकाबे तभो दाग होही’ । बचने का तो कोई रास्ता नहीं ।

तब क्या हो जब प्यार सामाजिक वर्गीकरण की सीमाओं और नियमों का उल्लंघन कर जाए? वैसे होना तो यही चाहिए । वो प्यार क्या जो जाति – धर्म – समाज – राष्ट्र – संस्कृति – भाषा – नस्ल में खुद को सीमित कर अपने आलंबन का चयन करे । ये तो प्यार न हुआ । प्यार तो मदमस्त खुले सांड की तरह आज़ाद  और गरिमामय होता है । वो सामाजिक नीति – नियमों – नैतिकता के बिना भी सुसंकृत और सभ्य होता है । किसी रूढ़िवादी समाज के ठहरे हुए नियमों के भीतर सड़ते हुए जड़ – मस्तिष्कों से प्यार को सभ्य होने का सर्टीफिकेट लेने की ज़रूरत नहीं ।

प्यार को बस हो जाने देना चाहिए । बिना ये यह सोचे कि उसका आलंबन किस जाति – धर्म – समाज – राष्ट्र – संस्कृति – भाषा – नस्ल या आर्थिक स्तर से संबंध रखता है । और शादी सिवाय किसी कमिटमेंट के और क्या है? अगर प्यार है तो कमिटमेंट की क्या ज़रूरत, और किससे? किसी तीसरे से अनुमति या स्वीकृति प्रमाणपत्र की तो ज़रूरत बिल्कुल नहीं । कम – अज़ – कम आज के समय में तो बिल्कुल भी नहीं । और जब प्यार न हो, सिर्फ कमिटमेंट ही रहे तो लानत है । तब जीवन सिर्फ घिसटता है । समाज उस कमिटमेंट से बाहर किसी से प्यार को अनैतिक घोषित करता है और बच्चों को नाजायज़ । आत्मा का मिलन, जन्म का बंधन, यह सब पुराने ज़माने के चालाक लोगों के षड्यंत्र जैसे लगते हैं ।

हां प्यार के साथ – साथ आपसी समझ (म्यूचुअल अंडरस्टैंडिग), एक दूसरे के प्रति सम्मान – आदर, विश्वास (फेथ एवं ट्रस्ट) भी हो, जो कि आमतौर पर होता भी है, तो बेहतर ।

जिन्हें प्यार है, जो प्यार में हैं उन्हें शुभकामनाएँ ।

Posted from WordPress for Android

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s