शिकायत हो गई ।

​अभी मैं ग्रीन पार्क से वापस आया ।

आज एक शिकायत हो गई ।
मैं मेरी ताईची स्वोर्ड से ताईची-32 का अभ्यास कर रहा था । मेलोडी और क्रिस्टीन ने भी अभ्यास किया । कुछ 2-3 लोगों ने पार्क के मुख्य पहरेदार से शिकायत कर दी । मुख्य पहरेदार के अनुसार चार लोगों ने शिकायत की । जब हम अभ्यास कर रहे थे, एक पहरेदार ने पास आकर तलवार का मुआयना किया । उसने पाया कि यह तो खिलौना है और ज़रा भी घातक नहीं है । फिर भी कुछ देर बाद दो अन्य पहरेदारों ने आकर मुझसे कहा कि मुख्य पहरेदार से मुझे पहले अनुमति लेनी चाहिए थी । अगर मुख्य पहरेदार इस खिलौने को पार्क के अंदर ले जाने और अभ्यास करने की अनुमति दे, तभी अंदर लाना चाहिए था । मुझे बात बिल्कुल सही लगी । मैंने कहा कि मैं नौ मिनट का ताईची-48 कर के मुख्य पहरेदार से मिलूंगा । वे दोनों चले गए । हम लोगों ने ताईची-48 का अभ्यास किया और साथ में पार्क के मुख्य गेट तक आए । रैचल आंटी, क्रीस्टीन और मेलोडी चले गए । मैं मुख्य पहरेदार की प्रतीक्षा करने लगा । मुख्य पहरेदार के आने से पहले कुछ अन्य लोगों ने खिलौना तलवार का मुआयना किया, मुझसे तईची के बारे में पूछताछ की । ताईची स्वोर्ड खरीदने के बारे में मैंने एक व्यक्ति को उसके मोबाइल पर अमेजन और ई-बे पर उपलब्ध होने की जानकारी भी दी । तब तक मुख्य पहरेदार आ चुके थे जो बुज़ुर्ग हैं । उन्होंने बताया कि चार लोगों ने उनसे हमारे बारे में शिकायत की । उपस्थित अन्य लोगों ने कहा कि इस खिलौना तलवार को पार्क के अंदर ले जाने की अनुमति होनी चाहिए । लेकिन मुझे मुख्य पहरेदार की बात सही लगी, मेरी वजह से उन्हें किसी की दो बात सुननी पड़े – यह बिल्कुल ठीक नहीं । नियम सभी के लिए समान हैं । मुख्य पहरेदार को मेरी वजह से जो तकलीफ़ हुई उसके लिए मैंने उनसे माफ़ी मांगा और आग्रह किया कि मुझे खिलौना तलवार से ताईची-32 का अभ्यास करने की अनुमति दें । लेकिन यह उनके वश में नहीं था, क्योंकि कुछेक लोगों को परेशानी थी जिन्होंने उनसे शिकायत की । ख़ैर, मैं कोई आंदोलन नहीं करने वाला हूं – मेरी किसी से कोई लड़ाई नहीं ।
अभी मुझे दो बातों का संशय है – 

1 – मेरी वजह से कहीं मेरा और मेरे दोस्तों का उस पार्क में प्रवेश बंद न हो जाए ।

2 – जिन्होंने शिकायत की वो कल से हमें देखकर कहीं विजयी महसूस न करने लग जाएँ ।
बेहतर होगा कि हमें ग्रीन पार्क में ताईची की प्रैक्टिस करने दी जाए, खिलौना तलवार की अनुमति भी मिल जाती तो अच्छा होता । और अच्छा होता कि बाकी लोग भी साथ आते और प्रैक्टिस करते हमारे साथ । ताईची बहुत अच्छा है – मज़ा आता है इसमें – दिमाग़, शरीर, सांसे, सबका तालमेल होता है । बाकी जो स्वास्थ्य के लिए फायदे है सो तो होंगे ही, मुझे नहीं पता – गूगल में सब लिखा है । मैं दुआ करता हूं कि सभी लोग आएं और साथ में ताईची करें ।

11:31 am शुक्रवार 25 नवम्बर 2016

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s